मुकेश सिंह मोंटी - पीएम आयुष्मान योजना के लाभार्थियों को वितरित किया गया गोल्डन कार्ड

मौलवीगंज वार्ड 99 से पार्षद मुकेश सिंह मोंटी ने अपने कार्यालय में प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के अंतर्गत आने वाले लाभार्थियों को आयुष्मान योजना का गोल्डन कार्ड वितरित किया. इस योजना के चलते अब वार्ड में सुपात्र जनता को आयुष्मान योजना को सही लाभ मिल सकेगा. वस्तुतः आधार कार्ड की भांति ही गोल्डन कार्ड इस योजना के लिए अत्यधिक आवश्यक है, जिसके आधार पर ही रोगी को मुफ्त ईलाज का लाभ मिल सकता है.

गौरतलब है कि सरकार आरोग्य भारत योजना, जिसे पीएम आयुष्मान योजना के नाम से भी जाना जाता है, के माध्यम से गरीब, उपेक्षित परिवारों और शहरी क्षेत्र में सम्मिलित गरीब लोगों के परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करा रही है. इस योजना का लाभ लेने के लिए एक गोल्डन कार्ड सभी को जारी किया जाता है, जब भी कोई सुपात्र योजना में रजिस्टर्ड हॉस्पिटल जाते हैं तो वहां उन्हें आयुष्मान मित्र (आरोग्य मित्र) मिलते हैं, जो अस्पताल में कागजी कार्यवाही करने में पीड़ित व्यक्ति की सहायता करते हैं. आरोग्य मित्र सबसे पहले एक सॉफ्टवेयर के जरिए इस बात की पुष्टि करते हैं कि आप योजना के लिए पात्र हैं या नहीं. इसके लिए वें सुपात्र से योजना के गोल्डन कार्ड की मांग करते हैं और पुष्टि होने के बाद व्यक्ति को बीमारी के अनुसार हॉस्पिटल पैकेज का चयन करके देते हैं. इस योजना के अंतर्गत सुपात्र की जांच और इलाज किया जाता है और इलाज से जुडी सारी जानकारी को अस्पताल के द्वारा दस्तावेजित कर लिया जाता है. इलाज होने पर डिस्चार्ज समरी जारी कर अस्पताल को सरकार द्वारा पेमेंट हो जाता है.

वर्ष 2018 में पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर 25 सितंबर से देशभर में लागू की गयी इस योजना में, सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना (SECC) 2011 के हिसाब से ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ परिवार और शहरी इलाके के लगभग 2.33 करोड़ परिवार आयुष्मान भारत योजना के दायरे में आते हैं.



क्या यह आपके लिए प्रासंगिक है? मेसेज छोड़ें.